श्री काल भैरव Lord Kaal Bhairav

श्री काल भैरव Lord Kaal Bhairav
श्री काल भैरव Lord Kaal Bhairav

श्री काल भैरव - काल भैरव भगवान शिव का एक रूप हैं, जो हिंदू धर्म के प्रमुख देवताओं में से एक हैं। उन्हें समय, परिवर्तन और परिवर्तन का देवता माना जाता है। एक उग्र और शक्तिशाली देवता के रूप में, काल भैरव को अक्सर गहरे रंग, कई भुजाओं और उग्र अभिव्यक्ति के साथ चित्रित किया जाता है।

काल भैरव को ब्रह्मांडीय समय का अवतार कहा जाता है और अक्सर समय बीतने और उससे जुड़े परिवर्तनों से सुरक्षा पाने के लिए उनका आह्वान किया जाता है। उन्हें उत्तरी दिशा का संरक्षक भी माना जाता है और उनके सुरक्षात्मक और परोपकारी स्वभाव के लिए उनकी पूजा की जाती है।

हिंदू पौराणिक कथाओं में, काल भैरव कई कहानियों और किंवदंतियों से जुड़े हुए हैं। सबसे प्रसिद्ध कहानियों में से एक काला नामक राक्षस के विनाश में उनकी भूमिका है। कहानी के अनुसार, काला एक भयंकर राक्षस था जो ब्रह्मांड को आतंकित कर रहा था। भगवान शिव को काल भैरव के रूप में काला के आतंक के शासन को समाप्त करने के लिए भेजा गया था। एक भयंकर युद्ध के बाद, काल भैरव विजयी हुए और उन्होंने काल को हराया, इस प्रकार ब्रह्मांड को उसके विनाशकारी मार्ग से बचाया।

काल भैरव से जुड़ी एक और कहानी ब्रह्मांड के निर्माण में उनकी भूमिका की है। पौराणिक कथा के अनुसार, जब भगवान शिव ब्रह्मांड का निर्माण करना चाहते थे, तो उन्होंने सबसे पहले समय के देवता काल को बनाया। हालाँकि, काला अपनी रचना से संतुष्ट नहीं था और ब्रह्मांड को नष्ट करना चाहता था। इसे महसूस करते हुए, भगवान शिव ने काल को नियंत्रित करने और उसे विनाश करने से रोकने के लिए काल भैरव का रूप धारण किया।

काल भैरव हिंदू धर्म में एक शक्तिशाली और परिवर्तनकारी देवता हैं, जो समय और परिवर्तन के देवता का प्रतिनिधित्व करते हैं। वह अपने सुरक्षात्मक और परोपकारी स्वभाव के लिए पूजनीय हैं, और उनकी कहानियाँ और किंवदंतियाँ ब्रह्मांड में संतुलन और सद्भाव बनाए रखने में उनकी भूमिका की याद दिलाती हैं।

श्री काल भैरव




Comments