Shri Durga Stuti श्री दुर्गा स्तुति

M Prajapat
1
Shri Durga Stuti श्री दुर्गा स्तुति
Shri Durga Stuti श्री दुर्गा स्तुति

Shri Durga Stuti श्री दुर्गा स्तुति - श्री दुर्गा स्तुति सभी तरह के कष्टनिवारक है। जगत जननी माता दुर्गा की स्तुति करने मात्र से से सभी कष्टों का निवारण हो जाता है। नवरात्रि पर जरूर करे मां दुर्गा स्तुति का पाठ, तो आइये पढ़िए माँ दुर्गा की स्तुति -
सर्व मंगल मांगल्ए शिवे सर्वार्थ साधिके,
शरण्ए त्र्यंबके गौरी नारायणी नमोस्तुते।।

श्री दुर्गा स्तुति

जय जग जननी आदि भवानी
जय महिषासुर मारिणी मां
उमा रमा गौरी ब्रह्माणी
जय त्रिभुवन सुख कारिणी मां

हे महालक्ष्मी हे महामाया
तुम में सारा जगत समाया
तीन रूप तीनों गुण धारिणी
तीन काल त्रैलोक बिहारिणी

हरि हर ब्रह्मा इंद्रादिक के
सारे काज संवारिणी माँ
जय जग जननी आदि भवानी
जय महिषासुर मारिणी मां

शैल सुता मां ब्रह्मचारिणी
चंद्रघंटा कूष्मांडा माँ
स्कंदमाता कात्यायनी माता
शरण तुम्हारी सारा जहां।।

कालरात्रि महागौरी तुम हो
सकल रिद्धि सिद्धि धारिणी मां
जय जग जननी आदि भवानी
जय महिषासुर मारिणी माँ

अजा अनादि अनेका एका
आद्या जया त्रिनेत्रा विद्या
नाम रूप गुण कीर्ति अनंता
गावहिं सदा देव मुनि संता।

अपने साधक सेवक जन पर
सुख यश वैभव वारिणी मां
जय जगजननी आदि भवानी
जय महिषासुर मारिणी मां।।

दुर्गति नाशिनी दुर्मति हारिणी दुर्ग निवारण दुर्गा मां
भवभय हारिणी भवजल तारिणी सिंह विराजिनी दुर्गा मां
पाप ताप हर बंध छुड़ाकर जीवो की उद्धारिणी माँ
जय जग जननी आदि भवानी जय महिषासुर मारिणी माँ।

Read also: - 

  देवीमाहात्म्य (श्री दुर्गा सप्तशती)

  माँ दुर्गा स्तुति मंत्र ।

  श्री दुर्गा चालीसा ।

  सिद्ध कुञ्जिका स्तोत्रम् ।

  श्री दुर्गा सप्तशती ।

  श्री दुर्गा स्तोत्रम् अर्जुन कृत ।

  श्री दुर्गा देवी अष्टोत्तर शतनामावली ।

  आरती: अम्बे तू है जगदम्बे काली 


माँ दुर्गा स्तुति Maa Durga Stuti by Sangeeta Patra 

Post a Comment

1Comments

Post a Comment

#buttons=(Ok, Go it!) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Ok, Go it!