ऊंचे ऊंचे शिखरों वाला | Unche Unche Shikhro Wala Hai Jain Bhajan Lyrics

ऊंचे ऊंचे शिखरों वाला | Unche Unche Shikhro Wala Hai Jain Bhajan Lyrics

M Prajapat
0

ऊंचे ऊंचे शिखरों वाला | Unche Unche Shikhro Wala Hai Jain Bhajan Lyrics -

॥ जैन भजन ॥

ऊंचे ऊंचे शिखरों वाला है, ये तीरथ हमारा
तीरथ हमारा, ये जग से न्यारा
मधुबन माही बरसे रे अमरत की धारा ॥
ऊंचे ऊंचे शिखरों वाला है, ये तीरथ हमारा... 

भाव सहित वंदे जो कोई, ताहि नरक पशु गति ना होई,
उनके लिये खुल जाये रे, सीधा स्वर्ग का द्वारा ॥
ऊंचे ऊंचे शिखरों वाला है, ये तीरथ हमारा...

जहां तीर्थंकर ने वचन उचारे, कोटि कोटि मुनि मोक्ष पधारे,
पूज्य परम पद पाये रे, जन्मे ना दोबारा ॥
ऊंचे ऊंचे शिखरों वाला है, ये तीरथ हमारा...

हरे-हरे वृक्षों की झूमे डाली, समवसरण की रचना निराली,
पर्वतराज पे शीतल जरना, बहता सुप्यारा ॥
ऊंचे ऊंचे शिखरों वाला है, ये तीरथ हमारा...

श्री जिनवर से भेंट करावे, जग को मुक्ति मार्ग दिखावे,
मोह का नाश करावे रे, ये तीरथ हमारा ॥
ऊंचे ऊंचे शिखरों वाला है, ये तीरथ हमारा...

शुद्धातम से प्रीति लगावे, जड चेतन को भिन्न बतावे,
भेद विज्ञान करावे रे, यह तीरथ हमारा ॥
ऊंचे ऊंचे शिखरों वाला है, ये तीरथ हमारा...

भाव सहित वंदे जो कोई, ताहि नरक पशुगति ना होई,
भेद विज्ञान करावे रे, ये तीरथ हमारा ॥
ऊंचे ऊंचे शिखरों वाला है, ये तीरथ हमारा...

रंग राग से भिन्न बतावे, शुद्धातम का रूप बतावे,
मुक्ति का मारग दिखावे रे, ये तीरथ हमारा ॥
ऊंचे ऊंचे शिखरों वाला है, ये तीरथ हमारा...

Video: Unche Shikhro wala Hai


Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)

#buttons=(Ok, Go it!) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Ok, Go it!