आज तुम्हे कहती है रुक्मण रानी लिरिक्स Aaj Tumhe Kahti Hai Rukman Rani Lyrics

M Prajapat
0

आज तुम्हे कहती है रुक्मण रानी लिरिक्स Aaj Tumhe Kahti Hai Rukman Rani Lyrics

।। कृष्ण भजन ।।

आज तुम्हे कहती है रुक्मण रानी,
आवीं कुण्डला वालेया, आवीं हारा वालेया ।।

पिता मेरे ने मन मे विचारा, 
वर ले रुक्मण श्याम प्यारा ।
भाई मेरे ने जुलम कमाया, 
शिशुपाल वेआवन आ गया ।।
आज तुम्हे कहती है ... ।।

रुक्मण रानी लिख रही पाती, 
श्याम सुन्दर मेरे बन जाओ साथी ।
दासी तेरी अरज गुजरे, 
शिशुपाल वेआवन आ गया ।।
आज तुम्हे कहती है ... ।।

विप्र तुर पड़े रात बाराती, 
जा मोहन को दीनी पाती ।
पाती पड़ कर ला ली छाती, 
और रथ को खूब सजा लिया ।।
आज तुम्हे कहती है ... ।।

मोहन तुर पड़े सुबह सवेरे, 
जा मन्दिर मे ला लाये डेरे ।
रुक्मण आई करने पूजा, 
बाजु पकड़ रथ मे बिठा लिया ।।
आज तुम्हे कहती है ... ।।

आज तुम्हे कहती है रुक्मण रानी लिरिक्स Aaj Tumhe Kahti Hai Rukman Rani Lyrics
आज तुम्हे कहती है रुक्मण रानी लिरिक्स

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)

#buttons=(Ok, Go it!) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Ok, Go it!